Friendship Shayari

Friendship Shayari

धड़कने बेवजह धड़क जाती है
ए दोस्त जब तुम्हारी याद आती है
छलकने लगते है आँखों से आँशु
क्या तुम्हे हमारी याद नहीं आती है
Dosti Shayari


यकीं नहीं तो आजमा के देख लो
यकीं नहीं तो आजमा के देख लो
सारे गम भूल जाओगे ए दोस्त
एक बार हमें भी याद कर के देख लो



दिन बीत जायेंगे प्यारी यादे बनकर
लफ्ज रह जायेंगे कहानी बनकर
हमेशा दिल के करीब रहोगें दोस्तों
मुस्कान तो कभी आँखों का पानी बनकर



ऐसे कमीने दोस्त है मेरे
जो साले कभी याद भी नहीं करते
दोस्ती निभाते है इस कदर
  लगता है जैसे की टाइम पास है करते



सबको ख़ुशी देने वाले ए खुदा
मेरे दोस्त की ज़िन्दगी में कभी गम न हो
उसको मुझसे भी अच्छे दोस्त मिले,
चाहे उसकी दोस्ती में शामिल हम न हो



जरा सा दूर हो जाऊं तो इंतज़ार करना,
खुद पे जरा सा ऐतबार करना,
कहीं चले भी गए तो लौट के आएंगे
आप बस अपनी दोस्ती बरकरार रखना।



साथ गुजरे कुछ पल बहुत याद आते हैं,
हमारी आँखों में आंसू छोड़ जाते हैं,
मिल जाये कोई और तो हमें न भूल जाना
क्योकि दोस्ती के रिश्ते जिंदगी भर काम आते हैं।



अपनी दोस्ती इतनी प्यारी होगी
जय वीरू के जैसे अपनी यारी होगी
ये दुनिया हमेशा याद रखेगी हमें
कुछ ऐसी अपनी दोस्ती कहानी होगी



छुपाना नहीं दिल में कोई बात हो अगर,
करना थोड़ा ऐतबार हम पर,
दोस्ती का रिश्ता निभाएंगे हम इसकदर
भूलना चाहोगे तो भी भुला नहीं पाओगे हमें ज़िंदगी भर।



कोशिश तो यही है कोई हमसे ना रूठे,
जिंदगी में कभी दोस्तों का साथ ना छूटे,
दोस्ती निभाते है हम इसकदर 
कि दोस्ती की डोर जिंदगी भर ना टूटे।



भुला के तुझको जिन्दा रहूँ
हो ना कभी ऐसा खुद ना करे
रहेगा तेरा साथ यार जिंदगी बनकर
अगर ये जिंदगी वफ़ा ना करे 



हम रुलाते नहीं किसी को दोस्त बनाकर
भूलाते भी नहीं किसी को दिल में बसाकर
हम तो जान भी दे सकते है दोस्ती के लिए
मौत आ जाये हमें अगर हम जिए दोस्ती भूलकर



हर मोड़ पर हम गिरते रहे, तुमने ही मुझे उठाया
सब दूर भागते थे मुझसे तुमने सीने से लगाया
तब तुमने ही दोस्त उम्मीद का दिया जलाया
अपने हर गम को छुपाकर तुमने मुझे जीना सिखाया


Post a comment

0 Comments