Funny Shayari Hindi

Funny Shayari Hindi

Funny Shayari

बड़े दिनों से घर का एक कोना है गन्दा
आज दासी नहीं आयी मै जा रहा हूँ।
मुझे कपडे है धोना।




तेरे बारे में सोचा तो मुझे एक ख्याल आया;
तुझे मैंने दोस्त बना के ज़िन्दगी में क्या पाया;
दोस्त नहीं तुझे तो मैं अपना भाई मानता था
तूने सबको छोड़ के मेरी वाली को पटाया




उसने वादा किया कि तेरा साथ नहीं छोड़ेंगे
तेरे लिए तो हम दुनिया से लड़ेंगे 
जब बारी आई साथ निभाने की तो उसने कहा
 भाग कमीने तेरे लिए घर के ऐसो आराम छोड़ेंगे




बे इन्तहा प्यार करता था मलहम और चोट की तरह
उसको संभाल के रखा था दिल में हजार की नोट की तरह
उसने कहा शक्ल देखि है कभी आईने में
और अपने दिल से निकाल फेका सड़े अखरोट की तरह




मैं आपको चाँद कहता, पर उसमें भी दाग है
मैं आपको सूरज कहता, पर उसमें भी आग है
मैं आपको बंदर कहता, पर उसमें भी दिमाग है!!!




स्टूडेंट के दर्द को यूनिवर्सिटी क्या जाने
कॉलेज के रिवाजों को पेरेंट्स क्या जाने
कितनी होती है तकलीफ एक पेपर लिखने में
वो पेपर चैक करने वाले क्या जाने!




क्या कहें इस दिल की हालत,
तुम दूर होतो हो तो इंतजार सताता है
मैं जब भी तुमको याद करता हूं
मुझे तेज बुखार हो जाता है




लड़का अपनी दिलरुबा से पूछता है,
क्या प्यार करना पाप है!
लड़के का दोस्त बोला उसके कान में
अबे जल्दी भाग पीछे उसका बाप है




इश्क का अंजाम पाया है,
हाथ पैर टूटे मुंह से खून आया है!
हॉस्पिटल पहुंचे तो नर्स बोली,
स्ट्रेचर लाओ किसी का महबूब आया है




मच्छर जो काटे तो मत हो हैरान,
मच्छर जो काटे तो मत हो हैरान!
अंजाने में ही सही,
कर रहे हो रक्तदान




आप किस तरह से याद आ रहे हो,
यूं देख कर मुस्कुरा रहे हो!
तुझे याद करूं तो लगता है,
कि मेरे सामने खड़े और सींग हिला रहे हो




उनकी गली के चक्कर काटते काटते,
कुत्ते हमारे यार हो गए!
वो तो हमें मिली नहीं,
पर हम कुत्तों के सरदार हो गए




हवाओं का रुख हम मोड़ नहीं सकते,
दोस्ती के धागे तोड़ नहीं सकते!
आपने लिया है हमसे इतना उधार,
कि चाह कर भी आपको छोड़ नहीं सकते




लड़कों को क्या चाहिए,
एक लड़की जो प्यार दे,
एक जो खाना बनाये,
एक जो पैसे कमाए!
और ऐसी किस्मत कि तीनों
आपस में ना मिल पाये




कॉलेज की चार दीवारी में
अजब-सा खेल होता है,
खेल खेल में दिलों का मेल होता है!
इसीलिए तो हर साल बच्चा फेल होता है




लड़कियों के तेवर लड़कियों के नखरे,
गुलाबी होंठ बाल बिखरे!
इन्हीं की मेहरबानियों से हम खा,
रहे हैं दर बदर की ठोकरें




आसमान के चांद हो आप मेरे लिए,
आपही से तो रोशन मेरी रातें हैं!
महबूबा से यही बात कहकर,
हम रोज घर की बिजली बचाते हैं




अपनी जिंदगी में तो बस अब है जाम,
अपनी सुबह शुरू होती जब होती है शाम!
खुश मत हो ऐ दोस्त,
मैं करता हूं बियर बार में काम




तुझपे मेरा दिल आ जाए,
ऐसी तुझमें कोई बात नहीं!
इसलिए तेरी जिन्दगी को जन्नत बनाने की,
जानेमन मेरी औकात नहीं




एक अरसे बाद हमको,
इश्क करने की फुरसत मिली थी!
और हमारी बेरहम महबूबा तब,
शादी करने पर तूली थी




नारी के चक्कर में भूलना ना यारी,
जब लात मारेगी नारी तो याद आएगी हमारी!
पुरूष बचाव समिति की तरफ से,
जनहित में जारी




जी चाहता है तेरे कोमल होंठों को चूम लूं,
जी चाहता है तेरे कोमल होंठों को चूम लूं!
पर तेरी बहती नाक ने इरादा बदल दिया




हर रास्ते का मुकाम नहीं होता,
हर रिश्ते का नाम नहीं होता!
खोजा है आपको दिल की रोशनी से,
वैसे एलीअंस को पकड़ना आसान नहीं होता




हम अपने दोस्तों को,
याद ना करने की बुरी सजा देते हैं!
अब जूतों से मारना छोड़ दिया है,
बस अपने मोजे सुंघा देते हैं




तेरी मोहब्बत में दिल का ये हाल है,
तेरी मोहब्बत में दिल का ये हाल है!
दिल मालामाल है,
मगर जेब अपनी कंगाल है




आप की याद में दिल की कलम,
ये हसीन पैगाम लिखती है!
हर खूबसूरत लड़की में आजकल,
हमें आपकी शकल दिखती है




हर शौहर की तरह शाहजहां ने भी,
प्यार का फर्ज निभाया है!
बीवी के जाने की खुशी में,
एक आलिशान ताज महल बनवाया है




सोचा आज खुद को बेच कर,
तेरे लिए सारी खुशियां खरीद लाऊं!
पर आज भंगारवालों की स्ट्राइक है,
अपने आप को बेचने बोल कहां जाऊं




चांदी का घोड़ा,सोने की लगाम,
एस एम एस पढ़ने वाले को सलाम!
व्हिस्की पीने वालों कभी पानी पियो
फोकट का एस एम एस पढ़ने वालों,
कभी एस एम एस करो




रात का वक्त है मंदिर है करीब,
आपके लिए पैगाम लाया हूं!
घर में हैं जितने पुराने जूते बदल लो,
मैं भी बदल के आया हूं




सोचा ताजमहल बनाऊं,
लेकिन मुमताज नहीं फिर क्यूं बनाऊं?
मुमताज मिली, बोली ताजमहल बनाओ,
तो मैं बोला पहले अपने बाप से पैसा तो लाओ




तू बोल तो मर जाऊंगा,
मिट जाऊंगा, लुट जाऊंगा!
पर ये सब तुझसे ना करवा सकूं,
तो आशिक ना सही गधा जरूर कहलाऊंगा




मोहब्‍बत के अंजाम से डर रहे हैं
निगाहों में अपनी लहू भर रहे हैं
मेरी प्रेमिका ले उड़ा और कोई
इक हम हैं कि बस शायरी कर रहे हैं!




सुन लो जान तुम ही हो अब मेरी Life
तुझको छोड़के ना बनेगी मेरी कोई वाइफ़
तू अगर कभी दे धोखा, जान
मैं अपनी दूंगा विथ अ नाइफ़




शादी के बाद हर बीवी की,
घर में ज्यादा चलती है
चाहे कितनी भी कोशिश करे चुप रहने की
पर पति पर ही भड़ास निकलती है




खुदा ने जब तुम्हें बनाया,
कनफ्यूजन का मोमेंट आया!
कभी गधा कभी बन्दर बनाना चाहा,
आखिर में उसे दोनों का मिक्स पसंद आया




ऐसी हो दोस्ती हमारी कि
तू हर राह हर डगर में मिले!
मर भी जाऊं अगर दोस्ती की खातिर,
तो पास वाली कबर में मिले




मंदिर में जाप करता हूं,
मस्जिद में आदाब करता हूं!
इन्सान से भगवान ना बन जाऊं,
इसीलिए तुझे एसएमएस कर
के रोज एक पाप करता हूं




सपना नहीं हकीकत हो तुम,
मेरे प्यार की जरूरत हो तुम
आ जाओ पास चलो कर लें शादी,
अपने घरवालों के लिए वैसे भी मुसीबत हो तुम




दूरी का एहसास जब सताए
तो दिल को संभाल लिया करो
और जब गुजरा लम्हा याद आए तो
दिमाग को ऑफ़ कर लिया करो




जिंदगी है तो ख्वाब हैं,
ख्वाब हैं तो मंजिलें हैं,
मंजिलें हैं तो रास्ते हैं,
रास्ते हैं तो मुश्किलें हैं,
मुश्किलें हैं तो-मैं हूं ना




जब से उनसे प्यार किया
तो नाईट को स्लीपिंग छोड़ दिया
तेरे फेस की जेंटल ब्यूटी ने
मेरे काईंड हार्ट को फोड़ दिया




तेरी दोस्ती की रोशनी ऐसी है कि
हर तरफ उजाला नजर आता है!
सोचता हूं घर की बिजली कटवा लूं,
आजकल कमबख्त बिल बहुत आता है




कैसे हो? मजे में? तबियत कैसी?
अंगुली में दर्द नहीं ना? आंख भी ओके?
दिमाग ठिकाने? कमाल है यार,
फिर तो एसएमएस कर सकते हो




तेरे चेहरे पे तेरी जुल्फों का बिखरना,
कर देता है घायल अपने
बालों को खुला म़त छोड़ना
वरना लोग तेरी जुओं से पनाह मांगेंगे




हवा में बेताब उड़ रहा था वो पत्ता,
खुशी से हवा में झूल रहा था वो पत्ता
अब कितनी स्टोरी बनाऊं,
रुक गई हवा गिर गया पत्ता




दुनिया में तीन तरह के लोग खुशनसीब हैं,
जिन्हें सच्चा प्यार मिलता है,
नेक यार मिलता है, और जिन्हें
मेरा एसएमएस बार-बार मिलता है




दुआ करता हूं खुदा से, ए खुदा
मेरा दोस्त अपनी मंजिल को पाए
उसकी राहों में अगर अंधेरा हो जाए,
तो रोशनी के लिए किसी और को भी जलाए




ऐ दोस्त तू भी लिखा कर शायरी,
मेरी तरह तेरा भी नाम हो जायेगा!
लोग फेकेंगे अंडे टमाटर, तो रात
की सब्जी का इन्तेजाम हो जायेगा




लड़कियां जब लोकल ट्रेन में
हों तो हम सोचते रहते हैं
इसे लोकल ट्रेन के बजाए लोग,
मालगाड़ी क्यूं नहीं कहते हैं




रोशनी देकर डूब जाना सूरज से सीखो,
दिल देकर दर्द लेना हमसे सीखो
बेदर्दी से दिल तोड़ देते हो
एसएमएस ना भेजना खुद से सीखो




बिना दर्द के आंसू बहाए नहीं जाते,
बिना प्यार के रिश्ते निभाए नहीं जाते
बहुत हुआ नारी उद्धार,
अब इश्क में झापड़ खाए नहीं जाते




काला न कहो मेरे महबूब को
काला न कहो मेरे महबूब को
खुदा तो तिल ही बना रहा था
प्याला लुढ़क गया!




न इश्क कर मेरे यार
ये लड़कियाँ बहुत सताती हैं
न करना इन पर ऐतबार
यह खर्चा बहुत करवाती हैं
रिचार्ज तुम करवा के देते हो
और नंबर मेरा लगाती हैं!




क्यों अपनी कब्र खुद ही खोद रहा है ग़ालिब,
क्यों अपनी कब्र खुद ही खोद रहा है ग़ालिब,
ला, फवड़ा मुझे दे




नई-नई शादी थी
नया-नया था जमाना
दुल्हा बेचैन था
सुनने को गाना
दुल्हन ने शुरू किया गाना
भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना




तुमको क्या मालूम तुम्हे कितना याद करते हैं.
तुम मानो या न मानो खुदा से फरियाद करते हैं,
रोज़ ख़त लिखते हैं कार्टून नेटवर्क का और
और आपको दिखने की मांग करते हैं।




आसमान में काली घटा छाई है
आज फिर गर्लफ्रेंड से मार खाई है
मगर मेरी गलती नहीं है दोस्तों
पड़ोसवाली लड़की आज Mini Skirt पहनकर आई है




हम आपको देखना चाहते हैं
आप से मिलना चाहते हैं
पर लोग बहुत जालिम हैं
मुझे आपसे मिलने नहीं देते
कहते हैं कि Zoo बंद है, कल आना




फूलों से खूबसूरत कोई नहीं,
सागर से गहरा कोई नहीं!
अब आपकी क्या तारीफ करूं,
दोस्तों में आप जैसा नालायक कोई नहीं!!




डराने का ही मन था तो चेहरा
दिखाने की क्या जरूरत थी!
बच्चे की जान लेगा क्या,
इस तरह से मुस्कुराने की क्या जरूरत थी!!




इश्क एक से हो तो भोलापन है,
दो से हो तो अपनापन है,
तीन से हो तो दीवानापन है,
चार से हो तो पागलपन है,
उसके बाद भी Counting ना रुके तो कमीनापन है




आप अगर पागल हैं तो
एसएमएस पढ़ते ही कॉल कीजियेगा!
अगर बेवकूफ हैं तो एसएमएस कीजियेगा,
और अगर कंजूस हैं तो चुप रहियेगा




वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है
वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है
अरे यार! जरा देख शेरनी कितना रो रही है




चाँद पर काली घटा छायी तो होगी
सितारों में चमक आती तो होगी
तुम लाख छुपाओ दुनिया से मगर
अपनी शक्ल पर हँसी आती तो होगी




खुशबू ने फूल को एक अहसास बनाया
फूल ने बाग को कुछ खास बनाया
चाहत ने मोहब्बत को एक प्यास बनाया
और इस मोहब्बत ने एक और देवदास बनाया!




कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है
कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है
तुम होती तो यह कहती
तुम होती तो वो कहती
इस बात पर हँसती
उस बात पर नाराज होती
शुक्र है तुम नहीं हो




क्या मस्त एयर चल रेली है,
Cow Grass Eat कर रेली है Dog Bark कर रेला है
शाना एसएमएस भेज रेला है,
ढक्कन एसएमएस पढ़ रेला है!




क्या यार तुम भी बड़े अजीब हो,
मेरे दिल के कितने करीब हो!
ना मिलते हो ना एसएमएस करते हो,
क्या तुम मुझसे भी ज्यादा गरीब हो




आपकी याद में मैने कलम उठाई
लिया कागज, तस्वीर आपकी बनाई,
सोचा था दिल के करीब रखूँगा उस तस्वीर को,
लेकिन वो तो बच्चों को डराने के काम आई




हादसे इंसान के संग मसखरी करने लगे
लफ्ज कागज पर उतर जादूगरी करने लगे
कामयाबी जिसने पाई उनके घर बस गए
जिनके दिल टूटे वो आशिक शायरी करने लगे





लोग इश्क करते हैं, बड़े शोर के साथ
हमने भी किया, बड़े जोर के साथ
मगर अब करेंगे, थोडा़ गौर के साथ
क्योंकि कल उसको देखा, किसी ओर के साथ!




वो तिरछी नजरों से जब हमें देख रहे थे, हमारे होश खो गए
वो तिरछी नजरों से जब हमें देख रहे थे, हमारे होश खो गए
जब पता चला की उनकी नजरे ही तिरछी है
तो हम बेहोश हो गए!




अपनी तो मोहब्बत की इतनी कहानी है,
टूटी हुई कश्ती और तैरता हुआ पानी है,
एक फूल किताब में दम तोड़ चुका है,
लेकिन कुछ याद नहीं आ रहा यह किसकी निशानी है




वादियों में धुंधले बादल,
छुपकर पर्वत का इंतजार करते हैं!
आपके किये कारनामों के लिए,
पुलिसवाले आपको गिरफ्तार करते हैं!




खुद को कर बुलंद इतना कि
हिमालय की चोटी पर जा पहुँचे
और खुदा तुमसे पूछे
अबे गधे, अब उतरेगा कैसे




वो आज भी हमें देखकर मुस्कुराते हैं
वो आज भी हमें देख कर मुस्कुराते हैं
ये तो उनके बच्चे ही कमीने हैं
जो हमें मामा-मामा कहकर बुलाते हैं




फूलों से खूबसूरत कोई नही.
सागर से गहरा कोई नही.
अब आपकी क्या तारीफ करू…
ऐ दोस्त, आप जैसा… नालायक कोई नही!




फिजाओं में तुम हो
घटाओं में तुम हो
हवाओं में तुम हो
बहारों में तुम हो
धूप में तुम हो
छाँव में तुम हो
अब तुम ही बताओ मेरी जान
क्या तुम किसी भूत से कम हो




बड़े लंबे होते हैं जिंदगी के ये रास्ते
दो कदम तुम चलो, दो कदम हम चलेंगे
बाद में टैक्सी कर लेंगे!




इधर खुदा है, उधर खुदा है,
जिधर देखो उधर खुदा है,
इधर-उधर बस खुदा ही खुदा है,
जिधर नही खुदा है, उधर कल खुदेगा




जब खिड़की पे आयी जुल्फ़ें बिखराई
दिल ने कहा लगता है दिलदार निकला,
लेकिन हाय रे मेरी फूटी किस्मत,
लड़की नहीं नहाया हुआ सरदार निकला




ताजमहल देखकर बोला शाहजहाँ का पोता
ताजमहल देखकर बोला शाहजहाँ का पोता
अपना भी होता बैंक बैलेंस
अगर दादा आशिक ना होता!




मोहब्बत के ज़ाम को ऐसे नहीं पीते
कि आधा पिया और आधा छोड़ दिया
दोस्तों ये प्यार है,कोई विम बार नहीं
जो थोड़ा सा लगाया और बस हो गया




दूर से देखा तो पत्थर दिखता था
दूर से देखा तो पत्थर दिखता था
पास जाकर देखा तो….
पास जाकर देखा तो….
सचमुच पत्थर ही था




ऐ दोस्त मत कर हसीनाओं से मोहब्बत
वह आँखों और बातों से वार करती हैं
मैंने तेरी वाली की आँखों में देखा है
वो मुझसे भी प्यार करती है!




कोई दूसरा तुमसा ज़मीं पर हुआ,
तो खुदा से शिकायत होगी,
एक तो झेला नही जाता,
दूसरा आ गयी तो क्या हालत होगी




पूरी बोतल ना सही एक जाम तो हो
जिनकी याद में हम बीमार पड़े हैं
कम से कम उन्हें जुकाम तो हो!




तुमसे मिलकर हो गया जिंदगी से प्यार,
अब हमें छोड़कर मत जाना मेरे यार,
बिन तेरे हम जी ना पाएँगे
तुम ना होंगे तो हम उल्लू किसे बनाएँगे!




तेरे घर पे सनम हज़ार बार आयेंगे,
तेरे घर पे सनम हज़ार बार आयेंगे,
घंटी बजायेंगे और भाग जायेंगे




कृष्ण रास करे तो रसिला
हम करें तो कैरेक्टर ढीला
‍कृष्ण में दिखते विष्णु और ब्रह्मा
हम में जग का सबसे निक्कमा!!”




हँसती थी हँसाती थी
दिल को बहुत भाती थी
देख-देख शरमाती थी
फिर अंदर से मुस्कुराती थी
आज पता चला कि
वो तो एक पागल थी!!!”




कैसे मिलेंगे हमें चाहने वाले बताइये
दुनिया खड़ी है राह में दीवार की तरह
हमरी तो शादी भी नहीं सकती क्योंकि
Family आपस में लड़ती है एक War की तरह




इतना अच्छा कैसे बोल लेते हो, 
इतना खूबसूरत कैसे गा लेते हो, 
एक बात बताओ दोस्त बचपन से ही गधे जैसे हो, 
या गधे जैसे Acting कर लेते हो




 देखा जब पहली दफा हो गया तुमसे प्यार, 
 अब हमें छोड़कर मत जाना मेरे यार,
 तेरे बिन हम अकेले कैसे जी पाएँगे
 तुम ना होंगे तो हम बेवकूफ किसे बनाएँगे




ऐसी वाणी बोलिये कि सब से झगडा होए;
पर उस से झगडा ना करें जो आप से तगड़ा होए!
नहीं तो मार मार के पैर तोड़ देगा
फिर बाद में हमेशा के लिए लंगड़ा होय




क्या सुनाएँ हम आपको दास्ताँ-ए-गम;
जब से आप मिले हो परेशान हो गए हैं हम!
पढ़ना लिखना सब छूट गया मेरा 
तेरे चक्कर में रेगिस्तान हो गए हम




दुआ करते हैं हम सर झुका के,
आप अपनी मंज़िल को न पाए,अगर
 आपकी राहों मे कभी अंधेरा आए,
तो रोशनी के लिए खुदा आपको जलाए.




"वक्त के पन्ने पलटकर, 
फ़िर वो हसीं लम्हे जीने को दिल चाहता है,
कभी छोटे मोठे हाथ मार लिया करता था। 
अब बड़ा हाथ मारने को दिल तरस जाता है."




"सच्ची है मेरी मोहब्बत आजमा के देखलो, 
करके यकीं मुझपे मेरे पास आके देखलो. 
जितना ज्यादा गिरगिट अपना रंग नहीं बदलता है
उससे ज्यादा हम गर्लफ़्रेंड बदलते है।




"हम अपने पर गुरुर नहीं करते, 
अपने पास रहने के लिए किसी को मजबूर नहीं करते. 
मगर जब वो छोड़ चली जाती है मुझसे दूर, 
तो उसको भुलाने के लिए हम दूसरी बदल लेते"




"हे भगवान काश  कुछ  ऐसा  हो  जाये,
SMS Incoming का भी Charge लग  जाये,
मेरे  दोस्त  चिल्ला-चिल्ला  कर  मुझे  मना करें,
और  मुझे  उनका  Balance काटने  में  मज़ा  आ  जाये।"




"कंजूसों की जिंदगी क्या जीना,
कभी हमारी तरह भी जिया करो,
फ्री रहने पर भी फ़ोन नहीं करते हो,
कम से कम मिस कॉल ही दे दिया करो."




"इश्क के बिना जिना सिख लो,
वर्ना गम के प्यालों को पीना सिख लो
अगर घर की दाल पसंद ना आये
तो कभी – कभी बहर की बिरयानी ही चख लो."




"सबकी ज़िन्दगी में खुशिया देने वाले, 
मेरे दोस्त की ज़िन्दगी में कोई गम न हो. 
मेरे दोस्त इतनी अच्छी गर्लफ्रेंड मिले 
जो Dhoom 3 की चिकनी चमेली से कम न हो"




जब देखी तो लगा की वो मेरा है।
उसके प्रति प्यार दिल में बहुत गहरा है।
मैं उसको प्रपोज करते – करते थक गयी।
बाद में पता चला की वो कान का बहरा है।




उसके प्यार के लिए उसके बाप से लड़ गया
उसके प्यार के लिए उसके बाप से लड़ गया
जब देखा उसके में कुत्तों को
उसके बाप के पैरों में गिर गया


Post a comment

0 Comments